समदर्शी न्यूज़ – गरियाबंद

विगत दिवस जनपद पंचायत छुरा में जन्म -मृत्यु के पंजीयन के संबंध में कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें सहायक संचालक सांख्यिकी एवं श्री अमजद जाफरी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत छुरा की उपस्थिति में श्रीमती अनुराधा साहू सहायक ग्रेड -2 सांख्यिकी द्वारा ग्राम पंचायत सचिव एवं समस्त अधिकारी कर्मचारी को प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला में जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र की आवश्यकताओं, इसका पंजीकरण करने की अवधि, संबंधित पदाधिकारी,अपीलीय पदाधिकारी की कार्य शक्तियां एवं दायित्व इत्यादि महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा किया गया। साथ ही अत्यावश्यक दस्तावेज के रूप में इसके महत्व पर प्रकाश डाला गया। कार्यशाला में जन्म प्रमाण-पत्र की उपयोगिता के बारे में बताया गया कि, जन्म की तारीख को प्रमाणित करता यह दस्तावेज बहुत उपयोगी है। यह स्कूल में दाखिला के लिए उपयोगी है। राशन कार्ड बनाने में उपयोगी है। साथ ही इसके माध्यम से वोटर कार्ड बनाने तथा पासपोर्ट इत्यादि बनाने में आसानी होती है। इसी प्रकार मृत्यु प्रमाण पत्र की उपयोगिता के बारे में बताया गया कि, यह मृत्यु की तारीख का प्रमाणित दस्तावेज है। पैतृक संपत्ति के दावे के निराकरण में, जीवन बीमा के लिए तथा बैंक खातों में उपयोगी है।

कार्यशाला में बताया गया कि जन्म और मृत्यु की घटनाओं के पश्चात पंजीकरण कराकर निःशुल्क प्रमाणपत्र प्राप्त किया जा सकता है। निर्धारित अवधि के पश्चात विलंबित पंजीकरण का भी प्रावधान है। जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र संबंधित ग्राम पंचायत कार्यालय, नगर पंचायत एवं नगर पालिका कार्यालय सहित स्वास्थ्य केंद्रों के रजिस्ट्रार जन्म-मृत्यु कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है।

error: Content is protected !!