समदर्शी न्यूज़ – गरियाबंद

गरियाबंद जिले के 13 मिनी अंागनबाड़ी केन्द्रों को मुख्य आंगनबाड़ी केन्द्र मेें परिवर्तित करने की स्वीकृति मिली है। सार्वभौमिकता के आधार पर जहां की जनसंख्या मैदानी स्तर पर 300 से अधिक व पहाड़ी क्षेत्रों मे 100 से अधिक जनसंख्या होने पर क्षेत्र की आवश्यकता के आधार पर मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित खोला जाता है। जिले में वर्तमान में 1384 मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित है। मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों को मुख्य आंगनबाड़ी मे परिवर्तित करने हेतु क्षेत्र के जनसंख्या 500 से अधिक होने पर उस मिनी आंगनबाड़ी को पूर्णतः मुख्य आंगनबाड़ी मे परिवर्तित कर दिया जाता है। जिले से मिनी आंगनबाड़ी को मुख्य आंगनबाड़ी केन्द्र में परिवर्तित करने हेतु आंगनबाड़ी कि सूची संचालनालय महिला एवं बाल विकास विभाग को प्रेषित की गयी थी फलस्वरूप 13 मिनी आंगनबाड़ी को मुख्य आंगनबाड़ी केन्द्र में परिवर्तित करने की स्वीकृति संचालनालय महिला एवं बाल विकास विभाग से प्राप्त हुई है।

मुख्य आंगनबाड़ी मे परिवर्तित होने से अब 13 केन्द्रों में कार्यरत मिनी कार्यकर्ता को मुख्य कार्यकर्ता मे परिवर्तित करते हुये जो कि उनका मानदेय पहले 7500 रूपये उसे बढ़ाकर 10000 रूपये किया जावेगा इसी अनुक्रम मे उक्त केन्द्रों मे सहायिका के पदों पर भर्ती की कार्यवाही पूर्ण की जावेगी। जिनमें परियोजना कार्यालय फिंगेश्वर द्वारा विज्ञापन जारी कर दिया गया है व परियोजना कार्यालय गरियाबंद व मैनपुर को तत्काल विज्ञापन प्रसारित करते हुये भर्ती की कार्यवाही पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये गये है।

error: Content is protected !!