समदर्शी न्यूज़ – कुनकुरी : शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला-मटासी की प्रधान पाठिका श्रीमती सरिता नायक ने अपने विवाह की 21 वीं वर्षगांठ पर शाला में न्योता भोजन कराने हेतु जब बच्चों को न्योता दिया तो शाला के बच्चों ने ‌कहा – मैडम हम सभी न्योता नहीं, शादी में होने वाले बफसिस्टम जैसे लाईन लगा कर अपनी‌ पसंद से भोजन लेकर खायेंगे। बच्चों की इस इच्छा का सम्मान करते‌ हुए मैडम ने उनकी पसंद के अनुसार न्योता भोजन स्वयं रसोइया, प्यून व श्रीमती पूनम भगत मैडम की सहायता से तैयार किया, उसके पश्चात बच्चों की पसंद अनुसार टेबल पर भोजन रखकर सबके सहयोग से भोजन को बांटने के लिए न्योता भोजन के सामने खड़े हो गए। बच्चों ने लाईन लगाकर अपनी-अपनी पसंद के भोजन को लेकर अपने क्लास पर बैठकर न्योता भोजन ग्रहण किये शाला के बच्चों की खुशी देखते ही बन रही थी।

क्या है न्योता भोजन ?

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना के अन्तर्गत प्रत्येक शाला से विधार्थीयों को दिये जाने वाले मध्यान्ह-भोजन को और अधिक पौष्टिक बनाने लिए शासन के निर्देश अनुसार न्योता भोजन की शुरुआत की गई है, जिसमें अधिकारी कर्मचारी पालक एवं आमजन के द्वारा विभिन्न अवसरों जैसे जन्मदिन, वैवाहिक वर्षगांठ सहित अन्य अवसर या स्वेच्छा से स्वयं के स्वेच्छा से दिया जाने वाला भोजन न्योता भोजन कहलाता है। इसमें आंशिक पूर्ण या पूरक पोषण आहार तीन प्रकार के भोजन शामिल हैं, जिसमें से किसी भी प्रकार का भोजन बच्चों को दिया जाता है, जिससे बच्चों को भरपूर पोषण मिल सके।

शाला में इन्होंने दिया न्योता भोजन –

शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला – मटासी में पालकों व शिक्षकों में जागरूकता आने से माह मार्च में प्रधान पाठक श्रीमती सरिता नायक के द्वारा शाला में न्योता की शुरुआत मीठे सूजी के हलवे से किया गया था। जो‌ पूरक पोषण आहार के अन्तर्गत आता है, उससे प्रेरित होकर कुछ पालक श्री एलेक्जेंड्रर एक्का के द्वारा केला तथा अगूंर फल, श्री टेटगूं राम  द्वारा कटहल आलू पत्तागोभी सब्जी, श्रीमती राधा यादव के द्वारा कटहल आलू की सब्जी एवं शिक्षक श्रीमती गीता जांगड़े द्वारा भी कटहल आलू की सब्जी ‌एंव सूजी की बर्फी बच्चों को दिया गया था। अप्रैल माह में लगभग अधिकांश पालक श्रीविश्वनाथ राम द्वारा बच्चों को आलू-भाटा-लौकी की सब्जी, बिस्किट पाकेट एवं संतरे का फल दिया तथा पालक श्री मोहन राम द्वारा हरी‌ भाजी एवं खीरा दिया गया एवं श्री अनिल चौहान विरेन्द्र टोप्पो एवं श्री शंकर राम भगत ने एक साथ मिलकर पूड़ी व आलू चना की सब्जी ‌एंव पालक श्रीमती सविता चौहान जो की दिल्ली में रहती हैं किन्तु शाला में सभी पालकों से प्रेरित होकर पूरक पोषण आहार मिक्चर, बिस्किट एवं चाकलेट प्रदान किया गया। शिक्षकों में श्रीमती पूनम भगत मैडम के द्वारा न्योता भोजन में पूड़ी, आलू मटर की सब्जी एवं फल में केला एवं सुश्री नीलकुसुम‌ टोप्पो मैडम द्वारा अण्डे की सब्जी एवं अंगूर फल, श्री सुदर्शन राम, श्री मुकेश टोप्पो एवं श्री शशि कुमार सिंह तीनों शिक्षकों ने मिलकर चावल, दाल, आलू-बरबटी एवं चिकन सब्जी एवं केला फल प्रदान किया। शाला में लगातार ‌न्योता भोजन हो रहा है, जिससे बच्चों को भरपूर ‌पोषण मिल रहा है और शासन के द्वारा अचानक बच्चों ‌के अवकाश ‌की घोषणा होने पर भी अंतिम दिवस पर भी बच्चों को पूर्व निर्धारित न्योता भोज मिला, जिससे बच्चे शाला से बाहर निकलते हुए बच्चे ‌बहुत ही खुश एवं संतुष्ट नजर आ रहे थे।

विवाह वर्षगांठ पर मैडम ने अपने शाला पर वृक्षारोपण भी किया। जिससे शाला ‌का वातावरण  हमेशा‌ स्वच्छ रहे।

error: Content is protected !!